Vardan Singh Hindi Gana – Chand Lyrics | Sambhavna Seth

W

atch the latest Hindi songs of video 2021. Read More (चाँद Hindi lyrics) Chand by Vardan Singh lyrics. In English, Vardan Singh’s new song Chand has released in 2021. In this song. Actors Sambhavna Seth & Avinash Dwivedi plays the lead. The brand new geet has sung by Vardan Singh, while the lyrics of the new song Chand has penned down by Krishna Bhardwaj, and Vardan Singh composed the music for the new track. The video of the new song has directed by Amit K Shiva.

vardan singh hindi gana of 2021 chand sambhavna seth lyrics genius

CHAND VARDAN SINGH LYRICS

Chand ko tak lena
Raat bhar chakh lena
Swad mere ishqe ka
Nazar me rakh lena
Rag rag chatt khare legi
Itna bharosa hai
Raat ki thali me chand parosa hai
Raat ki thali me chand parosa hai
Raat ka pahra
Ishq sunehra
Sabr jigar ko aave na
Jagne ka dil karta hai
Tujh sang hamra
Neend nigodhi bhavana
Tu mera haq dena
Tu mera haq lena
Swad mere ishqe ka
Kajar me rakh lena
Rag rag chatt khare legi
Itna bharosa hai
Raat ki thali me chand parosa hai
Raat ki thali me chand parosa hai
Dil aashiyana
Mausam suhana
Kitni haseen ye raat hai
Mann ka karana
Sun na suna na
Kitni haseen ye baat hai
Khud me mujhe rakh lena
Mujh me tu reh jana
Swad mere ishqe ka
Kajar me rakh lena
Rag rag chatt khare legi
Itna bharosa hai
Raat ki thali me chand parosa hai
Raat ki thali me chand parosa hai
Na taaj chahiye, na takht chahiye
Parindo ko bas tarkht chahiye
Shadee se parivar badhta hai, pyaar nahi
Jeevan sathi ko bas vaqt chahiye

चाँद HINDI LYRICS

चाँद को तक लेना
रात भर चख लेना
स्वाद मेरे इश्क़े का
नज़र में रख लेना
रग रग छत्त खरे लेगी
इतना भरोसा है
रात की थाली में चाँद परोसा है
रात की थाली में चाँद परोसा है
रात का पहरा
इश्क़ सुनेहरा
सब्र जिगर को आवे ना
जागने का दिल करता है
तुझ संग हमरा
नींद निगोड़ी भावना
तू मेरा हक़ देना
तू मेरा हक़ लेना
स्वाद मेरे इश्क़े का
कजर में रख लेना
रग रग छत्त खरे लेगी
इतना भरोसा है
रात की थाली में चाँद परोसा है
रात की थाली में चाँद परोसा है
दिल आशियाना
मौसम सुहाना
कितनी हसीं ये रात है
मन का करना
सुन ना सुना ना
कितनी हसीं ये बात है
खुद में मुझे रख लेना
मुझ में तू रह जाना
स्वाद मेरे इश्क़े का
कजर में रख लेना
रग रग छत्त खरे लेगी
इतना भरोसा है
रात की थाली में चाँद परोसा है
रात की थाली में चाँद परोसा है
ना ताज चाहिए, ना तख़्त चाहिए
परिंदों को बस तरखत चाहिए
शादी से परिवार बढ़ता है, प्यार नहीं
जीवन साथी को बस वक़्त चाहिए